Sahitya DarshannStory,Poems.shayari,quotes,Gazals,कवितायें शायरी कहानियाँ

 

Posted: 22-02-2018 | Writer - Ranjan Kumar Pandit

आज ओ फिर देखके मुस्कुराया है  !

लगता है कोई फिर काम निकल आया है  !!

Share

Posted: 08-03-2018 | Writer - Kumar Vishwas

घर से निकला हूँ तो निकला है घर भी साथ मेरे
देखना ये है कि मंज़िल पे कौन पहुँचेगा
मेरी कश्ती में भँवर बाँध के दुनिया ख़ुश है
 दुनिया देखेगी कि साहिल पे कौन पहुँचेगा

Share

Posted: 08-03-2018 | Writer - Kumar Vishwas

वो जो खुद में से कम निकलतें हैं
उनके ज़हनों में बम निकलतें हैं
आप में कौन-कौन रहता है
हम में तो सिर्फ हम निकलते हैं।

Share

Search

Categories

Friendship Shayari

Love Shayari

Sad Shayari

Life Shayari

Ma Shayari

Attitude Shayari

Motivational Shayari

Funny Shayari

Other Shayari

Shayar

चन्दन कुमार पंडित 1

कुंदन कुमार पंडित 3

रंजन कुमार पंडित 14

सूर्य कुमार शुक्ला 2

अनामिका अंबर 6

कविता तिवारी 1

कुमार विश्वास 13

मुनव्वर राना 8

6

विष्णु सक्सेना 5

Popular Shayaries